Home राज्य उत्तर प्रदेश विश्व ह्रदय दिवस : सेहत से रहना है खुशहाल तो ‘हर दिल...

विश्व ह्रदय दिवस : सेहत से रहना है खुशहाल तो ‘हर दिल के लिए करें दिल का  इस्तेमाल’, ह्रदय रोग के प्रति जागरुकता के लिए आयोजित हुए कार्यक्रम

0

वाराणसी। विश्व ‘ह्रदय  दिवस’ के अवसर पर गुरुवार को स्वास्थ्य विभाग  की ओर से जिले में विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। प्राथमिक एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों के अलावा हेल्थ एण्ड वेलनेस सेंटर व एनसीडी क्लीनिक में आयोजित जागरुकता कार्यक्रमों में लोगों को ह्रदय रोग के खतरे के प्रति सचेत करते हुए उन्हें इस रोग से बचने की सलाह दी गयी। बताया कि कोविड काल के बाद इस रोग से और अधिक सजग रहने की जरूरत है। इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ० संदीप चौधरी ने कहा कि दिल की बीमारी से यदि बचना है तो संयमित जीवन के साथ ही, इस रोग के प्रति सतर्कता और नियमित जांच जरूरी है।

हृदय दिवस पर पं.दीनदयाल उपाध्याय चिकित्सालय स्थित एनसीडी क्लीनिक (गैर संचारी रोग) में जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन कर लोगों को ह्रदय रोग से बचने की सलाह दी गयी। एनसीडी क्लीनिक के चिकित्साधिकारी डॉ विनोद आनंद सिंह ने बताया कि हृदय रोग के प्रति जागरुक करने के लिए 29 सितम्बर को एक नई थीम के साथ ‘ह्रदय दिवस’ मनाया जाता है। इस वर्ष की थीम ‘हर दिल के लिए दिल का इस्तेमाल करें’ है। उन्होंने कहा कि थीम का साफ संदेश है कि अपने दिल के सेहत का ख्याल दिल से करें तभी हम अपनी सेहत से खुशहाल रहेंगे। एक समय था जब यह रोग सिर्फ बुजुर्गो में पाया जाता था लेकिन आज इस रोग ने युवाओं को भी अपनी चपेट में ले रखा है। ऐसे में ह्रदय को स्वस्थ रखना आज के दौर में एक बड़ी चुनौती है। वर्तमान में अधिकांश लोगों की दिनचर्या अनियमित है। खान-पान भी संयमित नहीं है। जंक फूड का इस्तेमाल बढ़ा है। इसका नतीजा है कि लोगों को तमाम बीमारियां घेर रही है। हृदय रोग भी उनमें से एक है। उन्होंने बताया कि क्लीनिक में 50 से अधिक लोगों के ब्लड प्रेशर, शुगर की जांच के साथ ही उनकी ईसीजी की गई। साथ ही उन्हें हृदय रोग के लक्षण आदि की जानकारी देते हुए उन्हें इस रोग के प्रति सतर्क रहने की सलाह दी गई। क्लीनिक में मरीजों को बताया गया कि 45 वर्ष की उम्र के बाद नियमित जांच जरूरी है। खास कर उन लोगों को जो शुगर व ब्लड प्रेशर के पहले से रोगी हैं। 

शिव प्रसाद गुप्त मंडलीय चिकित्सालय में भी हृदय दिवस पर लोगों के दिल की सेहत का विशेष ख्याल करने की सलाह दी गयी। मंडलीय चिकित्सालय के हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ० अंजन कुमार श्रीवास्तव के अनुसार लोगों को हृदय रोग के लक्षण और बचाव के बारे में समझाया गया। डॉ कुमार के अनुसार कोविड के बाद लोगों में ह्रदय रोग का खतरा अधिक बढ़ा है। लिहाजा हमें और सतर्क रहना चाहिए। सभी को संतुलित आहार और नियमित व्यायाम जरूर करना चाहिए। अपनी दिनचर्या को व्यवस्थित रखें और नशे के साथ तनाव से भी बचे तभी हम अपने हृदय को निरोग रख सकते हैं। समय-समय पर अपनी जांच जरूर कराएं।

हृदय दिवस पर जनपद के सभी प्राथमिक व सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, हेल्थ एण्ड वेलनेस सेंटर के साथ ही एनसीडी क्लीनिक पर लोगों का शुगर, ब्लड प्रेशर की जांच कर उन्हें हृदय रोग से बचने की सलाह दी गयी। पं.दीन दयाल उपाध्याय चिकित्सालय के एनसीडी क्लीनिक में आये गिलट बाजार निवासी 52 वर्षीय संजय सिंह ने बताया कि शुगर व ब्लड प्रेशर की जांच के साथ ही उन्हें हृदय रोग के लक्षण और बचाव के बारे में विस्तार से बताया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here