Home राज्य उत्तर प्रदेश वाराणसी : मिशन शक्ति 4.0 के तहत अप्रैल से जून तक आयोजित...

वाराणसी : मिशन शक्ति 4.0 के तहत अप्रैल से जून तक आयोजित होंगी विविध गतिविधियां

144
0

वाराणसी। महिला कल्याण विभाग ने प्रदेश में महिलाओं और बच्चों की सुरक्षा, सम्मान एवं स्वावलम्बन के लिए मिशन शक्ति फेज 4.0 के तहत 100 दिवसीय विशेष कार्ययोजना तैयार की है। इसके तहत अप्रैल से जून माह तक पूरे प्रदेश में विभिन्न गतिविधियाँ आयोजित की जायेंगी। इस सम्बन्ध में निदेशक महिला कल्याण मनोज कुमार राय ने सभी जिलाधिकारी को पत्र भेजकर आयोजित होने वाली गतिविधियों की विस्तृत रूपरेखा के बारे में अवगत कराया है।

इस संदर्भ में जिला प्रोबेशन अधिकारी प्रवीण त्रिपाठी ने बताया कि इसके तहत 13 से 21 अप्रैल के बीच जनपदों द्वारा ब्लाक स्तर पर एक दिवसीय भव्य स्वावलम्बन कैम्प का आयोजन कर मिशन शक्ति 4.0 की विधिवत शुरुआत की जायेगी व प्रत्येक 15 दिवसों के अंतर पर ऐसे ही कैम्प आयोजित किये जायेंगे। कैम्प के माध्यम से सरकार द्वारा संचालित कल्याणकारी योजनाओं जैसे- मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना, बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ, उप्र मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना, पति की मृत्युपरांत निराश्रित महिला पेंशन योजना के बारे में जानकारी देने के साथ ही पात्र लोगों का चिन्हांकन करते हुए लाभ भी पहुंचाया जायेगा। इन कैम्पों के माध्यम से सरकारी योजनाओं के दायरे में आने वाले परिवारों, महिलाओं और बच्चों के आवेदनों की समस्त कार्यवाही ‘इन वन विंडो कैम्पस’ के माध्यम से पूरी की जायेगी।

मेगा इवेंट-‘जागरूक’ मीडिया एडवोकेसी वर्कशॉप

मिशन शक्ति 4.0 के तहत 22 अप्रैल को मुख्यालय महिला कल्याण के तत्वावधान में सेंटर फार एडवोकेसी एंड रिसर्च (सीफार) संस्था के सहयोग से लखनऊ में मेगा इवेंट का आयोजन किया जायेगा । इसके तहत राज्यस्तरीय ‘जागरूक’ मीडिया एडवोकेसी वर्कशॉप का आयोजन किया जायेगा । इसी क्रम में 26 अप्रैल से 30 जून के मध्य सभी मंडलों में सीफार संस्था के सहयोग से मंडल स्तरीय ‘जागरूक’ मीडिया एडवोकेसी वर्कशॉप का आयोजन किया जायेगा । इन वर्कशॉप के माध्यम से विभाग के अंतर्गत संचालित योजनाओं को जनमानस तक पहुंचाने पर मीडिया के साथ विचार विमर्श होगा।

अन्य प्रमुख गतिविधियाँ : महिला कल्याण अधिकारी अंकिता श्रीवास्तव ने बताया कि एक मई को अंतरराष्ट्रीय बाल श्रम दिवस और तीन मई को अक्षय तृतीया के अवसर पर एक से सात मई तक बाल विवाह व बाल श्रम के खिलाफ जागरूकता व रेस्क्यू के लिए ‘आपरेशन मुक्ति’ का वृहद आयोजन किया जायेगा। 13 मई को प्रत्येक ग्राम सभा स्तर पर बच्चों और महिलाओं सम्बन्धी विभिन्न मुद्दों पर जागरूकता व विचार-विमर्श हेतु प्रधान सम्मेलन आयोजित किये जायेंगे। 26 से 28 मई के बीच लिंगानुपात पर जागरूकता के लिए समस्त ग्राम सभाओं में जनप्रतिनिधियों की उपस्थिति में गुड्डा-गुड्डी बोर्ड की स्थापना की जायेगी।

दो जून को मेगा इवेंट ‘हक़ की बात जिलाधिकारी के साथ’ का आयोजन किया जाएगा, जिसके माध्यम से यौन हिंसा, लैंगिक असमानता, घरेलू हिंसा, कन्या भ्रूण हत्या, कार्यस्थल पर लैंगिक उत्पीडन और दहेज़ हिंसा आदि के सम्बन्ध में संरक्षण, सुरक्षा तंत्र, सुझाव व सहायता के लिए दो घंटे का पारस्परिक संवाद आयोजित किया जाएगा । 30 जून को मेगा इवेंट ‘अनंता’ का आयोजन किया जाएगा, जिसके माध्यम से प्रेरक महिलाओं और बालिकाओं की पहचान की जायेगी और सम्मान किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here