Home राज्य उत्तर प्रदेश वाराणसी : ‘न करेंगे नशा और न ही दूसरों को करने देंगे’,...

वाराणसी : ‘न करेंगे नशा और न ही दूसरों को करने देंगे’, तम्बाकू नियंत्रण अभियान में ली शपथ

59
0

वाराणसी। तंबाकू का सेवन लोगों के स्वास्थ्य और समाज के लिये हानिकारक है। समाज के हर व्यक्ति की जिम्मेदारी है कि लोगो को तंबाकू के नशे से दूर रखने के लिए जागरूक करे। इस बात के मद्देनजर जिले में इन दिनों तम्बाकू नियंत्रण अभियान चलाया जा रहा है। इसके तहत वृहस्पतिवार को आराजीलाइन ब्लाक के पनियारा ग्राम पंचायत भवन के सभागार में जुटे ग्रामीणों ने नशा न करने की शपथ ली। कहा कि तम्बाकू व धूम्रपान का सेवन न तो वह खुद करेंगे और न ही किसी और को करने देंगे। इसके दुष्प्रभावों को गांव के अन्य लोगों को बतायेंगे और इस बुरी लत से बचने के लिए सभी को समझायेंगे।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. संदीप चौधरी ने बताया कि विश्व में हर साल लगभग 60 लाख लोग तम्बाकू सेवन के कारण अपनी जान गवाते हैं। इनमें भारत में तम्बाकू सेवन से हर साल होने वाली मौत की संख्या लगभग नौ लाख है, जो क्षय रोग, एड्स और मलेरिया से होने वाली मौतों से अधिक है। देश में हर रोज दो हजार से अधिक लोग तम्बाकू सेवन के चलते अपनी जान गवां रहे हैं। कैंसर से मरने वाले सौ रोगियों में 40 प्रतिशत तम्बाकू सेवन के कारण मरते हैं। उन्होंने कहा कि यदि जल्द ही इस पर अंकुश नहीं लगाया गया तो देश में हर वर्ष धूम्रपान से मरने वालों की संख्या वर्ष 2030 तक 83 लाख तक पहुंचने की आशंका है। इस गंभीर स्थिति पर लगाम लगाने के लिए केन्द्र व प्रदेश की सरकार गंभीर है। शासन के निर्देश पर जिले में इन दिनों तम्बाकू निषेध अभियान चलाया जा रहा है। यह अभियान 15 मई से शुरू हुआ है और 15 जून तक चलेगा।

राष्ट्रीय तम्बाकू नियंत्रण कार्यक्रम के जिला सह नोडल अधिकारी डा. अतुल सिंह ने बताया कि अभियान की सफलता के लिए जिला स्तरीय समन्वय समिति तथा ब्लाक स्तरीय तम्बाकू नियंत्रण समन्वय समिति की बैठक कर कार्ययोजना तैयार कर ली गयी है। इसके तहत एनटीसीपी, एनपीसीडीसीएस एवं एनएमएचपी कार्यक्रमो के अन्तर्गत कार्यरत काउन्सलर/साइकोलाजिस्ट ब्लाक स्तर पर शिविरों के माध्यम से तम्बाकू का सेवन कर रहे व्यक्तियों की काउन्सिलिंग कर उन्हें तम्बाकू सेवन से दूर करने का प्रयास करेंगे।

राष्ट्रीय तम्बाकू नियंत्रण कार्यक्रम के जिला सलाहकार डा. सौरभ प्रताप सिंह ने बताया कि इसके साथ ही ग्राम स्वास्थ्य, स्वच्छता एवं पोषण समितियों की बैठक में तम्बाकू सेवन से होने वाली हानियों के बारे में लोगों को जागरूक किया जाएगा। इसके अतिरिक्त जिले में रैली, गोष्ठी, कार्यशाला एवं नुक्कड नाटक के माध्यम से सभी को तम्बाकू के खतरे से अवगत कराया जायेगा।

राष्ट्रीय तम्बाकू नियंत्रण अभियान के तहत संचालित
नशा उन्मूलन केन्द्र के साइकोलाजिस्ट अजय श्रीवास्तव ने बताया कि जिले में चल रहे अभियान के तहत गुरूवार को तम्बाकू नियंत्रण कार्यक्रम की टीम ने आराजीलाइन ब्लाक के पनियार ग्राम पंचायत भवन में कैम्प का आयोजन किया। इसमें शामिल काफी संख्या में लोगों ने तम्बाकू व धूम्रपान न करने की खुद शपथ ली। इसके साथ ही भरोसा दिलाया कि वह अब इस गंभीर खतरे के प्रति लोगों को जागरूक करेंगे। वह न तो खुद नशा करेंगे और न ही दूसरों को नशा करने देंगे।

कार्यक्रम में डीईओ ऋषि सिंह, सोशल वर्कर संगीता सिंह के अलावा अन्य लोग शामिल थे। इसके पूर्व बुधवार को शिवपुर स्थिति केन्द्रीय कारागार में बंदियों को नशे के खतरे से अगाह करते हुए इससे दूर रहने की सलाह दी गयी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here