Home राज्य उत्तर प्रदेश वाराणसी : घर-घर जाकर चिन्हित किये जायेंगे कोविड लक्षण युक्त व्यक्ति, पोलियों...

वाराणसी : घर-घर जाकर चिन्हित किये जायेंगे कोविड लक्षण युक्त व्यक्ति, पोलियों के तर्ज पर सोमवार से चलेगा विशेष सर्वेक्षण अभियान

140
0

वाराणसी। जनपद वाराणसी में पोलियो की तर्ज पर 24 से 29 जनवरी तक विशेष सर्वेक्षण अभियान चलाया जाएगा। जहां घर-घर जाकर आशा एवं आंगनबाड़ी कार्यकर्ता द्वारा कोविड-19 के लक्षण युक्त व्यक्ति, नियमित टीकाकरण से छूटे हुए दो वर्ष से कम आयु के बच्चे, 60 वर्ष से अधिक आयु वर्ग में कोविड टीके की पहली खुराक न प्राप्त करने वाले व्यक्ति को चिन्हित कर सूचीबद्ध किया जाएगा।

इस कार्यक्रम के सफल क्रियान्वयन के लिए जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने स्वास्थ्य विभाग सहित अन्य विभागों को निर्देशित किया है कि इस अभियान की सफलता के लिए आशा और आंगनवाड़ी को प्रशिक्षण दिया जाए। इस बात पर विशेष ध्यान रखा जाए कि इस सर्वेक्षण में एक भी घर न छूटे। साथ ही स्वास्थ्य विभाग की जो योजनाएं चल रही हैं उसकी पहुँच आमजन तक जरूर हो इस पर विशेष ध्यान दिया जाए।

इस संदर्भ में मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. संदीप चौधरी ने बताया कि सर्वेक्षण के साथ-साथ कोविड टीकाकरण का कार्य यथावत चलता रहेगा। कोविड टीकाकरण में मोबलाइजेशन का कार्य निगरानी समिति द्वारा संपादित किया जाएगा। सर्वेक्षण के दौरान प्रत्येक घर पर स्टीकर चस्पा तथा पोलियो की तर्ज पर हाउस मार्किंग का कार्य भी होगा। प्रत्येक पांच टीमों पर एक सुपरवाइजर तथा जोनल अधिकारी नियुक्त होंगे। प्रतिदिन ब्लॉक तथा जनपद स्तर पर समीक्षा की जायेगी। एएनएम एवं सीएचओ को उक्त सर्वेक्षण से मुक्त रखा जाएगा।

26 जनवरी को अवकाश के कारण उस दिन नही होगा सर्वेक्षण

समस्त गतिविधियों हेतु प्रशिक्षण तथा सहयोगात्मक पर्यवेक्षण डब्ल्यूएचओ तथा यूनिसेफ द्वारा किया जाएगा। 26 जनवरी को अवकाश के कारण उस रोज सर्वेक्षण नहीं होगा लेकिन 27 जनवरी से पुनः यह अभियान 29 जनवरी तक जारी रहेगा । इस अभियान में पंचायतीराज विभाग, ग्राम्य विकास,आई सी डी एस, नगर -पालिका, वन विभाग, कृषि विभाग, गैर-सरकारी संगठनों, डब्ल्यू एच ओ तथा यूनीसेफ आदि से सहयोग लिया जाएगा।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि सर्वेक्षण में निम्न बिन्दुओं पर सूचना एकत्रित की जाएगी।

• 60 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के कोविड टीका करण के प्रथम डोज से छूटे हुए व्यक्तियों का चिन्हांकन एवं उन्हें सूचीबद्ध करना।

• 0 से 2 वर्ष की आयु के नियमित टीकाकरण से छूटे हुए बच्चों का चिन्हांकन एवं उन्हें सूचीबद्ध करना।

• टीडी टीकाकरण से छूटे हुए गर्भवती महिलाओं का सर्वेक्षण।

• आई एल आई /सारी से प्रभावित व्यक्तियों का चिन्हकांन एवं मेडिसिन किट का वितरण।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here