Home राज्य उत्तर प्रदेश वाराणसी : खत्म हुआ इंतजार, अब सुरक्षित रहेगा पूरा परिवार, बच्चों को...

वाराणसी : खत्म हुआ इंतजार, अब सुरक्षित रहेगा पूरा परिवार, बच्चों को टीका लगने से बाद अभिभावकों को भी हुई राहत

38
0

वाराणसी। कोविड टीका लगवाने में 12 से 14 वर्ष के बच्चों में भी काफी उत्साह नजर आया। शहरी सीएचसी दुर्गाकुण्ड में टीकाकरण कराने के बाद ये बच्चे बोले ‘हमारा इंतजार खत्म हुआ, अब हमारा पूरा परिवार सुरक्षित रह सकेगा’। साथ ही यह भी कहा की टीकाकरण के बाद भी वह कोविड प्रोटोकाल का पूरी तरह पालन करेंगे। बच्चों को टीका लग जाने से अभिभावकों को भी काफी राहत हुई।

जिले में 12 से 14 वर्ष के बच्चों को कोविड टीका लगाने की औपचारिक शुरूआत दुर्गाकुण्ड स्थित सीएचसी में हुई। यहां टीका लगवाने आये बच्चे काफी उत्साहित थे। सभी की इच्छा थी कि उन्हें जल्द से जल्द टीका लग जाए।

यहां सबसे पहला टीका लगवाने वाले कबीरनगर निवासी रामकृष्ण (12 वर्ष) ने कहा कि मै सौभाग्यशाली रहा जो  मुझे यह अवसर मिला। कहा कि उसे काफी दिनों से इंतजार था कि उसे भी कोविड का टीका लग जाए। जब अखबारों में पढ़ा कि उसकी उम्र के बच्चों को भी अब टीका लगेगा तो उसने अपने पापा प्रमोद रस्तोगी को बताया। उन्ही के साथ वह टीका लगवाने आया है। रामकृष्ण ने कहा कि उसे टीका भले ही लग गया है पर वह कोविड प्रोटोकाल का पालन करता रहेगा।

कबीरनगर के ही करण शर्मा (14 वर्ष) ने कहा कि टीका न लगा होने के कारण उसे घर से बाहर निकलने नहीं दिया जाता था। टीका लग जाने से वह भी परिवार के अन्य लोगों की तरह कही भी जा सकेगा।

मारुतिनगर निवासी जेएम आदित्य (13 वर्ष) ने कहा जब भी वह घर से बाहर निकलता था, लौटने पर परिवार के लोग डरते थे कि टीका न लगा होने से कहीं उसे संक्रमण न हो जाए, लेकिन अब यह खतरा अब कम हो गया।

पटेल नगर निवासी 14 वर्षीय शुभम राय ने बताया कि उसके परिवार में सभी लोगों को टीका लगा हुआ है। सिर्फ वही एक ऐसा था जिसे टीका अभी तक नहीं लगा था। आज उसे भी टीका लग गया। इसके साथ ही उसका पूरा परिवार अब कोविड टीका लगवा चुका।

सीरगोवर्धनपुर निवासी आर्यन (14 वर्ष) ने कहा कि टीका लगवाने के लिए आज सुबह से ही वह तैयार बैठा था। बस समय का इंतजार कर रहा था कि कब 11 बजे और वह भी कोविड टीका लगवा लेने वालों में शामिल हो सके। साकेत नगर के यशवर्धन सिंह (14 वर्ष) , आदिति (13 वर्ष) ने भी टीका लग जाने पर खुशी जाहिर की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here