Home राज्य उत्तर प्रदेश वाराणसी : सघन पल्स पोलियो अभियान, घर-घर पहुंची टीमें, छूटे बच्चों को...

वाराणसी : सघन पल्स पोलियो अभियान, घर-घर पहुंची टीमें, छूटे बच्चों को दी पोलियो की खुराक

80
0

वाराणसी। देश को पोलियो मुक्त करने के लिए शुरू हुआ ‘सघन पल्स पोलियो अभियान’ सोमवार को भी जारी रहा। स्वास्थ्य विभाग की टीमों ने सोमवार को घर-घर जाकर ऐसे बच्चों को पोलियो की खुराक दी जो इसे लेने में छूट गये थे। इसके साथ ही रेलवे स्टेशन, बस स्टैण्ड व अन्य सार्वजनिक स्थलों पर भी पांच वर्ष से कम आयु के बच्चों को पोलियो की खुराक दी गयी। इस तरह सोमवार को 54043 बच्चों को पोलियो की खुराक दी गयी ।

रविवार से शुरू हुए सघन पल्स पोलियो अभियान के पहले दिन ‘बूथ दिवस’ का आयोजन कर जिले में 2.80 लाख से अधिक बच्चों को पोलियो की खुराक दी गयी। अभियान के तहत सोमवार से टीमों ने घर-घर जाकर बच्चों को पोलियो की खुराक पिलाने का काम शुरू किया। इन टीमों ने शहर के साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में घर-घर का दरवाजा खटखटाया और 0 से 5 वर्ष तक के छूटे हुए बच्चों को पोलियो की खुराक दी।

जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ वी. एस. राय ने बताया कि अभियान में 0 से 5 वर्ष तक का कोर्इ बच्चा पोलियो की खुराक लेने से छूट न जाए इसके लिए टीमों ने घर-घर जाकर पोलियो ड्राप पिलाने का काम सोमवार से शुरू किया है। इसके लिए जिले में 1231 टीमें गठित की गयी है। साथ ही 36 ट्रांजिट टीमों का भी गठन किया गया है जिन्होंने रेलवे स्टेशन, बस स्टैण्ड व अन्य सार्वजनिक स्थलों पर मौजूद रह कर छूटे हुए बच्चों को पोलियो की खुराक दी। उन्होंने बताया इसके अतिरिक्त हमारी मोबाइल टीमों ने र्इंट भठ्ठा जैसे स्थानों पर भी पहुंच कर छूटे हुए बच्चों को पोलियो की खुराक दी।

डॉ वी. एस. राय ने बताया कि रविवार से शुरू हुए सघन पल्स पोलियो अभियान के तहत जिले में पांच वर्ष से कम आयु के लगभग 5.88 लाख बच्चों पोलियो की खुराक देने का लक्ष्य हैं। हमारा पूरा प्रयास होगा कि इस लक्ष्य को हर हाल में प्राप्त कर लें। उन्होंने कहा कि यह तभी संभव होगा जब सभी का सहयोग मिलेगा। इसके लिए अभियान में लगे स्वास्थ्यकर्मी व अन्य विभागों के अलावा सामाजिक संगठनों के साथ हर नागरिक को इस बात का ध्यान रखना होगा कि पोलियो की खुराक लेने में शून्य से पाँच वर्ष तक का कोई बच्चा छूटने न पाये। यदि घर में या आस-पड़ोस में पांच वर्ष तक का बच्चा है और वह पोलियो की खुराक लेने से छूट गया है तो घर-घर भ्रमण कर रही टीमों से सम्पर्क कर तत्काल उसे पोलियो की खुराक पिलाएँ जिससे उसे इस बीमारी से प्रतिरक्षित किया जा सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here