Home राज्य उत्तर प्रदेश वाराणसी : नवीन गर्भनिरोधक साधनों की पहुँच बढ़ाने के लिए मनाया गया...

वाराणसी : नवीन गर्भनिरोधक साधनों की पहुँच बढ़ाने के लिए मनाया गया ‘अंतराल दिवस’

50
0

वाराणसी। परिवार नियोजन की नवीन गर्भनिरोधक सेवाओं की पहुँच बढ़ाने व समुदाय को जागरूक करने के लिए हर सप्ताह शुक्रवार को अंतराल दिवस मनाया जाता है। इसी क्रम में शुक्रवार को जनपद के ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों में प्राथमिक व सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर अंतराल दिवस मनाया गया।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ संदीप चौधरी ने बताया कि परिवार नियोजन के सभी स्थायी व अस्थायी साधनों की पहुँच बढ़ाने के लिए समुदाय को जागरूक करने की आवश्यकता है। इसके लिए जिले के सभी स्वास्थ्य केन्द्रों, हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर व उप केन्द्रों पर हर शुक्रवार को अंतराल दिवस मनाया जा रहा है। इस दौरान लाभार्थियों को नवीन गर्भनिरोधक साधनों की सेवाएं दी गईं। इसके साथ ही परिवार नियोजन के प्रति परामर्श भी दिया गया।

नोडल अधिकारी एवं एसीएमओ डॉ राजेश प्रसाद ने बताया कि अंतराल दिवस लाभार्थियों को अस्थायी एवं नवीन गर्भनिरोधक साधनों जैसे अंतरा तिमाही गर्भनिरोधक इंजेक्शन, छाया साप्ताहिक गर्भनिरोधक गोली, माला एन, आईयूसीडी, कंडोम आदि की सेवाएँ दी गईं। दिवस पर परिवार नियोजन के बास्केट ऑफ चॉइस का पूरा ध्यान दिया जाता है जिससे लाभार्थी अपनी पसंद की सेवा का लाभ उठा सकें। उन्होने कहा कि परिवार नियोजन परामर्श एवं सुविधाएं नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पर निःशुल्क उपलब्ध हैं। इसके बारे में अधिक जानकारी के लिए आशा कार्यकर्ता व एएनएम से संपर्क किया जा सकता है।

प्रभारी चिकित्सा अधिकारी (एमओआईसी) डॉ यतीश भुवन पाठक ने बताया कि आदर्श ब्लॉक सेवापुरी के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सहित दो अतिरिक्त पीएचसी, सीएचसी हाथी बाजार एवं 35 हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर पर अंतराल दिवस मनाया गया।

इस दौरान समस्त स्वास्थ्य केन्द्रों पर 11 अंतरा, 60 छाया, एक आईयूसीडी, 60 माला-एन एवं 330 कंडोम की सेवाएँ लाभार्थियों को निःशुल्क दी गईं। महिला चिकित्सक डॉ शालिनी शर्मा एवं स्टाफ नर्स प्रतिभा सिंह ने ब्लॉक पीएचसी पर लाभार्थियों को निःशुल्क सेवाएँ एवं परामर्श दिया। स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारी (एचईओ) वीरेंद्र कुमार एवं ब्लॉक कार्यक्रम प्रबन्धक (बीपीएम) अनूप कुमार मिश्रा ने अंतराल दिवस का पर्यवेक्षण किया।

पीएचसी सेवापुरी पर पहुँचें डोमनपुरा निवासी विनोद (38) के दो बच्चे हैं और सबसे छोटे बच्चे की उम्र छह साल है। वह दो बच्चों के बाद तीसरे बच्चे की चाह न रखने पर गर्भ निरोधक साधन कंडोम का उपयोग कर सुरक्षा ले रहे हैं। सोनबरसा निवासी प्रेमलता ने बताया कि उनका आठ का माह एक बच्चा है और अभी वह अनचाहे गर्भ से छुटकारा पाने के लिए साप्ताहिक गर्भ निरोधक गोली छाया का सेवन कर रही हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here