Home राज्य उत्तर प्रदेश UP Election 2022 : जिन्ना से शुरू आतंकवादी साइकिल तक पहुंचा यूपी...

UP Election 2022 : जिन्ना से शुरू आतंकवादी साइकिल तक पहुंचा यूपी का चौथा चरण चुनाव

0

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 जैसे-जैसे प्रत्येक चरण चुनाव बीतता जा रहा है वैसे-वैसे हर चरण में मुद्दा और बयानबाजी भी बदलती जा रही है। बता दे कि यूपी विधानसभा चुनाव में अब तक तीन चरण के चुनाव सम्पन्न हो चुके है। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव की शुरुआत प्रथम चरण में गन्ना-जिन्ना और हिजाब से होते हुए चौथे चरण के मतदान तक साइकिल आतंकवादी बन गई है। जी हां तो आइए हम आपको बताने जा रहे है यूपी के हर चरण के चुनाव में क्या बने मुद्दे क्या हुई बयानबाजी।

यूपी चुनाव का पहला चरण “गरमी निकालना बना मुद्दा”

यूपी चुनाव के पहले चरण की बात करें तो इस चरण में सबसे ज्यादा किसान आंदोलन का मुद्दा गरम था। लेकिन इसकी शुरुआत से पहले जो सियासी बयानबाजी शुरू हुई वो गरमी निकालने पर पहुंच गयी। हालांकि इस चरण में ध्रुवीकरण भी अहम मुद्दा बना रहा, यही वजह है कि बीजेपी ने कैराना पलायन का मुद्दा जमकर उछाला।

दूसरे चरण में जाति धर्म बना मुद्दा

यूपी चुनाव के दूसरा चरण में सबसे बड़ा मुद्दा जाति-धर्म का छाया रहा। चूंकि इस चरण का चुनाव जिन जिलों में होना था वो पूरा मुस्लिम बेल्ट माना जाता है। यहाँ तक कि इस चरण के कुछ जिले ऐसे थे जहाँ मुस्लिम आबादी 50 फीसदी तक थी।

तीसरा चरण में “हिजाब बना मुद्दा”

यूपी के तीसरे चरण चुनाव में मुस्लिम बेल्ट से बुन्देलखण्ड और यादव लैण्ड में चुनाव पहुँचा तब तक पुराने मुद्दों की जगह नये मुद्दे आ चुके थे। दूसरे चरण के पहले शुरू हुआ हिजाब विवाद तीसरे चरण तक कर्नाटक की सीमा को लाँघ यूपी तक पहुँच चुका था और यहाँ के चुनाव को प्रभावित करने को तैयार था। हालाँकि बुन्देलखण्ड में आवारा पशुओं का ही मुद्दा मुख्य बना रहा।

चौथे चरण “आतंकवादी हुई साइकिल”

वही अब बात करे चौथे चरण की चुनाव की तो अब चौथे चरण का चुनाव होना है। लेकिन पहले चौथे चरण का मतदान होता कि पहले ‘गरमी’ ठंडी हो गयी और ‘हिजाब’ उड़ गया। इस चरण में साइकिल आतंकवादी हो चुकी है।

दरअसल, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने हरदोई में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कहा था कि, ”जितने भी धमाके हुए सब समाजवादी पार्टी के चुनाव निशान साइकिल पर रखकर किये गये और मैं हैरान हूं कि उन्होंने (आतंकियों) साइकिल को क्‍यों पसंद किया।” जिस पर अखिलेश यादव ने पलटवार भी किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here