Home राज्य उत्तर प्रदेश UP Assembly Election 2022 : दागी प्रत्याशियों पर मची रार, जाने सपा,...

UP Assembly Election 2022 : दागी प्रत्याशियों पर मची रार, जाने सपा, बसपा, और भाजपा ने कितने उतारे दागी उम्मीदवार

79
0

लखनऊ। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 को लेकर सभी राजनीतिक दल अपने-अपने धुरंधर प्रत्याशी मैदान में उतारने में लगे है। सभी राजनीतिक दल अपने-अपने जीत का दावा भी कर रहे है। ऐसे में चुनावी मैदान में आपराधिक प्रवृत्ति वाले प्रत्याशियों को उतारने को लेकर समाजवादी पार्टी (SP), बहुजन समाज पार्टी (BSP), भारतीय जनता पार्टी (BJP) में जबरदस्त जंग छिड़ी है। वही बाकी राजनीतिक दले भी इसमें गोते लगा रही हैं, लेकिन ये जानना जरूरी है कि दागी उम्मीदवारों की असल तस्वीर क्या है।

उत्तर प्रदेश विधानसभा 2022 चुनाव को लेकर नामांकन प्रक्रिया चल रही है। ऐसे में 25 जनवरी तक दाखिल नामांकन पत्रों से पता चलता है, जिनमें उम्मीदवारों ने अपने ऊपर दर्ज़ मामलों की जानकारी अपने हलफनामे में दिया है। इसकी पड़ताल से पता चला है कि भाजपा(BJP) के 23, सपा(SP) के 18 और बसपा(BSP) के 16 उम्मीदवारों पर मामले दर्ज हैं। इसमें से बहुत तो ऐसे हैं जिनपर मामूली धाराएं हैं लेकिन कुछ ऐसे भी हैं जिनपर संगीन इल्ज़ाम हैं।

BJP के दागी उम्मीदवार

भारतीय जनता पार्टी (BJP) से अभी तक जितने उम्मीदवारों के नामांकन पत्र दाखिल हुए हैं, उनमें से 23 पर आपराधिक मुकदमे दर्ज हैं। इनमें थाना भवन से सुरेश खन्ना, हस्तिनापुर से दिनेश, सरधना से संगीत सोम, शिकारपुर से अनिल कुमार, किठौर से सत्यवीर सिंह, एत्मादपुर से डॉक्टर धर्मपाल सिंह, मीरापुर से प्रशांत चौधरी, खतौली से विक्रम सिंह, गढ़मुक्तेश्वर से हरेंद्र सिंह, कोइल से अनिल पाराशर, मेरठ कैंट से अमित अग्रवाल, मेरठ साउथ से सोमेंद्र सिंह तोमर, सिकंदराबाद से लक्ष्मी राज, बुढ़ाना से उमेश मलिक, खैरागढ़ से भगवान सिंह कुशवाहा, खुर्जा से मीनाक्षी सिंह, बुलंदशहर से प्रदीप कुमार चौधरी, हापुर से विजयपाल, कैराना से मृगांका सिंह, मेरठ से कमल दत्त शर्मा, सिवाल खास से मनिंदर पाल, लोनी से नंदकिशोर और फतेहपुर सीकरी से बाबूलाल शामिल हैं।

समाजवादी पार्टी के दागी उम्मीदवार


समाजवादी पार्टी (SP) से जितने भी उम्मीदवारों ने अभी तक नामांकन दाखिल किया है, उसके मुताबिक 18 पर आपराधिक मामले दर्ज हैं। आगरा नॉर्थ से ज्ञानेंद्र, अतरौली से वीरेश यादव, मेरठ से रफीक अंसारी, खुर्जा से बंशी सिंह, मेरठ साउथ से मोहम्मद आदिल, मथुरा से देवेंद्र अग्रवाल, कोईल से शाह इसहाक, कैराना से नाहिद हसन, नोएडा से सुनील चौधरी, हस्तिनापुर से योगेश वर्मा, सरधना से अतुल प्रधान, किठौर से शाहिद मंजूर, सिकंदराबाद से राहुल यादव, अलीगढ़ से जफर आलम, डिबाई से हरीश कुमार, दादरी से राजकुमार, चरथावल से पंकज कुमार मलिक और साहिबाबाद से अमरपाल पर कई आपराधिक मामले दर्ज हैं।

बसपा के दागी उम्मीदवार

बहुजन समाज पार्टी के जितने उम्मीदवारों ने अभी तक नामांकन दाखिल किया है उनमें से 16 पर आपराधिक मामले दर्ज हैं। इनमें छर्रा से तिलक राज, बुलंदशहर से कल्लू कुरेशी, खतौली से करतार सिंह भडाना, एत्मादपुर से प्रबल प्रताप सिंह, मेरठ साउथ से दिलशाद अली, शिकारपुर से मोहम्मद रफीक, चरथावल से सलमान सईद, हापुड़ से मनीष सिंह, अनूपशहर से रामेश्वर, मथुरा से सतीश कुमार शर्मा, लोनी से अकील, सिकंदराबाद से मानवीर सिंह, दादरी से मनबीर सिंह, मेरठ कैंट से अमित शर्मा, हस्तिनापुर से संजीव कुमार और स्याना से सुनील कुमार शामिल हैं।

इनके अलावा राष्ट्रीय लोक दल, कांग्रेस, आम आदमी पार्टी, AIMIM के भी कई उम्मीदवारों ने अपने ऊपर दर्ज आपराधिक मामलों की जानकारी दी है। दागी उम्मीदवारों को लेकर सपा और भाजपा में भले ही जंग चल रही है लेकिन इनके बचाव में दोनों ही पार्टियों की एक जैसी ही प्रतिक्रिया मिली है। भाजपा के प्रवक्ता राकेश त्रिपाठी और सपा के विधायक उदयवीर सिंह, दोनों ने कहा कि ये मामले राजनीति से प्रेरित रहे हैं और विपक्ष की सरकार के समय आंदोलनों के हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here