Home राज्य उत्तर प्रदेश UP Assembly Election 2022 : वाराणसी के रोहनिया विधानसभा सीट पर सभी...

UP Assembly Election 2022 : वाराणसी के रोहनिया विधानसभा सीट पर सभी दलों की निगाहें, Congress और AAP उम्मीदवारों के नाम कर चुकी है घोषित

0

वाराणसी। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 को लेकर सभी राजनीतिक विधानसभा चुनाव जीत की दावे कर रहे है। सभी राजनीतिक दल हर विधानसभा में अच्छे-अच्छे और ईमानदार प्रत्याशी को मैदान में उतारने में लगे है। इसी क्रम में आज हम आपको बनारस के 8 विधानसभा सीटों में रोहनिया विधानसभा का इतिहास बताने जा रहे है। जहां इस सीट 2017 में भाजपा के पाले में है। वही इस बार किसका इस सीट पर पलड़ा भारी होगा अब इसका नतीजा 10 मार्च को होगा। 387 रोहनिया विधानसभा में कुल 3,68,938 वोटर्स है। इसके साथ ही इस सीट पर सभी राजनीतिक दलों की खास नजर है।

राजनीतिक इतिहास की यदि बात करे तो यह कैंट व गंगापुर विधानसभा क्षेत्र के गांवों को मिलाकर वर्ष 2012 में परिसीमन के बाद अस्तित्व में आई थी। 387 रोहनिया विधानसभा सीट पर पहली बार अपना दल (एस) की अनुप्रिया पटेल (Anupriya Patel) ने बसपा के रमाकांत सिंह (Ramakant Singh) को हराकर जीत दर्ज की। वही समाजवादी पार्टी के मनोज राय धूपचंडी (Manoj Rai Dhupchandi) तीसरे तो भाजपा के संजय राय चौथे स्थान पर रहे।

2017में भाजपा ने मारी थी बाजी

हालांकि वर्ष 2014 में अनुप्रिया पटेल मीरजापुर संसदीय क्षेत्र से निर्वाचित होकर लोकसभा सदस्य बन गईं तो यहां उप चुनाव हुआ। इसमें सपा नेता व पूर्व मंत्री सुरेंद्र सिंह पटेल (Surendra Singh Patel) के छोटे भाई महेंद्र सिंह पटेल (Mahendra Singh Patel) निर्वाचित हुए। उन्होंने अपना दल की कृष्णा पटेल को शिकस्त दी थी। महेंद्र सिंह पटेल को 76,121 तो अपना दल की कृष्णा पटेल को 61,662 वोट मिले थे।

वही विधानसभा 2017 के चुनाव में पासा पलटा और इस सीट पर भारतीय जनता पार्टी (BJP) के सुरेंद्र नारायण सिंह (Surendra Narayan Singh) ने सपा के महेंद्र सिंह पटेल को हराकर जीत का परचम लहराया। सुरेंद्र नारायण सिंह को 1,19,885 व महेंद्र सिंह पटेल को 62,332 मत मिले थे।

क्षेत्र की प्रमुख विशेषता

वही इस क्षेत्र की विशेषताएं की बात करे तो इस विधानसभा क्षेत्र में प्रमुख रूप से बनारस रेल इंजन कारखाना (BLW), पंचक्रोशी यात्रा का प्रथम पड़ाव कर्दमेश्वर महादेव मंदिर, काशी का दक्षिणी द्वार कहा जाने वाला शूलटंकेश्वर महादेव मंदिर, संत रविदास मंदिर प्रमुख है। यदि सामाजिक समीकरण की बात की जाए तो इस सीट पर कुर्मीभूमिहार मतदाता निर्णायक भूमिका में रहते हैं।

कांग्रेस और आप पार्टी उम्मीदवारों की कर चुके है घोषणा

मौजूदा समय मे इस सीट पर कांग्रेस ने राजेश्वर पटेल को प्रत्याशी घोषित किया है, तो आम आदमी पार्टी ने पल्लवी बर्मा को टिकट दिया है। अन्य दलों ने अभी प्रत्याशियों के नामों की घोषणा तो नहीं की है, लेकिन कई नाम लोगों की जुबान पर तैर रहे हैं। देखना यह है कि भाजपा (BJP) अपनी सीट बचाने के लिए क्या दांव खेलती है और अन्य दल भाजपा के हाथ से यह सीट झटकने के लिए किन चेहरों पर दांव लगाते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here