Home राज्य उत्तर प्रदेश UP Assembly Election 2022 : गंगा-गोमती का संगम स्थल अजगरा विधानसभा सीट...

UP Assembly Election 2022 : गंगा-गोमती का संगम स्थल अजगरा विधानसभा सीट BJP का पूरा जोर सुभासपा के सीट खीचने की चुनौती

68
0

वाराणसी। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 को लेकर सभी राजनीतिक विधानसभा चुनाव जीत की दावे कर रहे है। सभी राजनीतिक दल हर विधानसभा में अच्छे-अच्छे और ईमानदार प्रत्याशी को मैदान में उतारने में लगे है। इसी क्रम में आज हम आपको बनारस के 8 विधानसभा सीटों में अजगरा (385) विधानसभा का इतिहास बताने जा रहे है। जहां यह सीट साल 2012 के परिसीमन के बाद अस्तित्व आई। तब इस सीट पर पहली बार बसपा ने बाजी मारी थी। वही 2017 में भाजपा गठबंधन में सहयोगी सुभासपा ने जीती थी। अबकी भाजपा इस सीट को अपने पाले में लाने की कोशिश करेगी। बता दे कि अजगरा सीट (सुरक्षित) है। यहां कुल 3,68,938 वोटर है।

2012 में बाद अस्तित्व में आई थी अजगरा सीट

बात करे राजनीतिक इतिहास को तो यह सीट वर्ष 2012 के परिसीमन के बाद अस्तित्व में आई थी। अजगरा विधानसभा सीट से पहली बार बहुजन समाज पार्टी (BSP) के त्रिभुवन राम विधायक बने थे। उन्होंने रोमांचक मुकाबले में 60,239 मत पाकर मात्र 2083 मतों से समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के लालजी सोनकर को हराया था। भारतीय जनता पार्टी (BJP) के हरिनाथ 22,855 वोट पाकर तीसरे स्थान पर रहे थे।

वर्ष 2017 में भाजपा (BJP) गठबंधन में सहयोगी सुभासपा (SBSP) के कैलाश सोनकर को 83,778 व सपा के लालजी सोनकर 62,429 मत मिले थे। अबकी भाजपा का पूरा जोर सुभासपा के खाते से यह सीट खींचकर अपने पाले में लाने पर है। अबकी सुभासपा ने सपा के साथ गठजोड़ किया है। ऐसे में वह भी अपनी सीट बरकरार रखना चाहेगी। अन्य दल भी इस सीट पर जोर लगाए हुए हैं।

इस क्षेत्र में है ये विशेषताएं

वही इस विधानसभा क्षेत्र की विशेषताएं की बात की जाए तो कैथी में प्राचीन मार्कण्डेय महादेव मंदिर, गंगा-गोमती का संगम स्थल, चोलापुर बाजार का शहीद स्मारक, गोसाईपुर मोहाव स्थित पं. दीनदयाल वनविहार, भैठौली गांव में मां दुर्गा का प्राचीन मंदिर, नियार में मां बनसत्ती देवी धाम।

सामाजिक समीकरण की बात की जाए तो अजगरा विधानसभा सीट पर अनुसूचित जाति के मतदाताओं की बहुलता है। राजभर वोटर भी अच्छी-खासी तादाद में है। मुस्लिम, यादव, क्षत्रिय, ब्राह्मण और कायस्थ मतदाताओं की भी महत्वपूर्ण भूमिका भी रहती है।

बात की जाए इस विधानसभा सीट की मौजूदा स्थिति तो पिछले चुनाव में सुभासपा (SBSP) के खाते में गई। अजगरा सीट पर इन दिनों भाजपा सहित सभी दलों की निगाहें टिकी हैं। इस आरक्षित सीट पर पिछले चुनाव में भाजपा की सहयोगी रही सुभासपा के कैलाश सोनकर की जीत हुई थी। सुभासपा और भाजपा के बीच दूरियां बढ़ने के बाद से अब भाजपा नेता जोर शोर से दावेदारी में जुटे हैं। बसपा हर हाल में अपनी सीट को वापस चाहती है और सपा भी इस सीट पर काबिज होने की जुगत में है।

प्रमुख दावेदार

कांग्रेस : नाथू राम, डॉ राजेश कुमार चौधरी, राहुल राज, राजेंद्र प्रसाद, सन्नी दयाल, प्रमोद कुमार सोनकर, आशा देवी

सपा : कैलाश नाथ सोनकर, लालजी सोनकर, सुनील सोनकर, लालबाबू सोनकर, पूर्व विधायक अमित सोनकर

भाजपा : पूर्व विधायक (बसपा) टी राम, विनोद सोनकर शास्त्री

बसपा : सुभाष जैसल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here