Home राज्य उत्तर प्रदेश वाराणसी में मनाया जाएगा पीएमएसएमए दिवस, गर्भवती की होगी निःशुल्क प्रसव पूर्व...

वाराणसी में मनाया जाएगा पीएमएसएमए दिवस, गर्भवती की होगी निःशुल्क प्रसव पूर्व जांच

60
0

वाराणसी। गर्भवस्था के दौरान महिलाओं को बेहतर स्वास्थ्य संबंधी परामर्श व मुफ्तजांच मिल सके, इसके लिए हर माह की नौ तारीख को प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान (पीएमएसएमए) दिवस मनाया जाता है। इस दिवस पर समस्त गर्भवती की प्रसव पूर्व जाँच (एएनसी), टिटनेस-डिप्थीरिया (टीडी) का टीका,आयरन, कैल्शियम एवं आवश्यक दवाएं आदि सेवाएँ व परामर्श निःशुल्क दिया जाता है।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ संदीप चौधरी ने जनपदवासियों से अपील की है कि प्रत्येक माह की नौ तारीख़ को प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान के अंतर्गत प्रदान की जाने वाली स्वास्थ्य सुविधाओं का लाभ प्राप्त करने के लिए गर्भवती को निकटतम स्वास्थ्य केंद्र पर लायें और नि:शुल्क जांचव सेवाओं का लाभ उठाएँ। इसके साथ ही आशा कार्यकर्ताओं को जिम्मेदारी दी गयी है कि वह अपने क्षेत्र की सभी गर्भवती को इस दिवस पर केंद्र पर लाकर जांच जरूर करवाएं। उन्होने कहा कि गर्भवती, स्वास्थ्य केन्द्रों पर प्रसव पूर्व जांच और टीकाकरण के लिए जरूर आयें जिससे जच्चा-बच्चा दोनों को स्वस्थ रखा जा सके।

सीएमओ ने इसके लिए सभी राजकीय चिकित्सालयों व समस्त नगरीय व ग्रामीण स्वास्थ्य केन्द्रों के चिकित्सा अधीक्षकों व प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों को विभिन्न दिशा-निर्देश दिये हैं जिससे पीएमएसएमए के अंतर्गत उच्च जोखिम गर्भावस्था (एचआरपी) ट्रैकिंग को सुदृढ़ करते हुये मातृ मृत्यु दर को कम करने के लिए ज़ोर दिया जा सके। सीएमओ ने बताया कि यह दिवस 38 चिकित्सा इकाइयों पर मनाया जाएगा। इस दौरान सभी चिकित्सा इकाइयों पर समस्त गर्भवती की प्रसव पूर्व जाँचे (एएनसी) जैसे हीमोग्लोबिन, शुगर, यूरिन जांच, ब्लड ग्रुप, एचआईवी, सिफ़लिस, वजन, ब्लड प्रेशर एवं अन्य जाँचों की निःशुल्क सुविधा मौजूद है। इसके साथ ही टिटनेस-डिप्थीरिया (टीडी) का टीका, आयरन, कैल्शियम एवं आवश्यक दवाएं मुफ्त दी जाती हैं। एचआरपी युक्त महिलाओं की पहचान, प्रबंधन एवं सुरक्षित संस्थागत प्रसव के लिए प्रेरित करना। इसके अलावा पोषण, परिवार नियोजन तथा प्रसव स्थान के चयन के लिए परामर्श दिया जाता है।

आशा के साथ लाभार्थी महिला को भी मिलेगी प्रोत्साहन राशि

पीएमएसएमए दिवस के अंतर्गत इसी साल जनवरी से नई व्यवस्था सरकार द्वारा की गयी है। इसके तहत चिन्हित उच्च जोखिम गर्भावस्था (एचआरपी) वाली महिला की एमबीबीएस या विशेषज्ञ चिकित्सक द्वारा तीन अतिरिक्त एएनसी विजिट सुनिश्चित करने के लिए 100 रुपये प्रति विजिट आशा कार्यकर्ता को प्रोत्साहन धनराशि मिलेगी।

एचआरपी युक्त महिला के सुरक्षित संस्थागत प्रसव व प्रसवोपरांत 45 दिनों तक माँ एवं नवजात शिशु की देखभाल को संबन्धित एएनएम या चिकित्सक द्वारा प्रमाणित करने पर आशा कार्यकर्ता को 500 रुपये प्रति प्रसूता के लिए प्रोत्साहन राशि मिलेगी। एचआरपी युक्त महिला को पीएमएसएमए दिवस अथवा संदर्भित स्वास्थ्य इकाई पर चिकित्सक या स्त्री व प्रसूति रोग विशेषज्ञ से तीन अतिरिक्त एएनसी जांच कराने के लिए लाभार्थी महिला को 100 रुपये प्रति विजिट दिये जाने का भी प्रावधान किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here