Home राज्य उत्तर प्रदेश वाराणसी : स्वास्थ्य विभाग ने पिछले चार सालों में बदली उपकेन्द्रों की...

वाराणसी : स्वास्थ्य विभाग ने पिछले चार सालों में बदली उपकेन्द्रों की सूरत,जिलें के 225 उपकेन्द्रों को हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर में किया तब्दील

15
0

वाराणसी। जनपद के सुदूर क्षेत्रों में बने स्वास्थ्य उप केंद्रों का कायाकल्प कर आयुष्मान भारत-हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर में परिवर्तित कर दिया गया है। अमीनी (आदर्श ब्लॉक सेवापुरी), कुरौता (काशी विद्यापीठ), पतेरवा (चिरईगांव) सहित अन्य 225 उपकेंद्रों को हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर में तब्दील हो गए हैं। पहले जहां इन उपकेन्द्रों पर सिर्फ टीकाकरण और परिवार नियोजन की सेवाएं (कंडोम और माला एन) दी जाती थीं। वहीं वर्तमान में इन हेल्थ वेलनेस सेंटर पर मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य, नियमित टीकाकरण, किशोर-किशोरी स्वास्थ्य, वृद्धजन स्वास्थ्य देखभाल, परिवार नियोजन की समस्त सेवाएं, संचारी व गैर संचारी रोगों से नियंत्रण एवं बचाव सहित अन्य जरूरी जांच, उपचार और परामर्श की सेवाएं प्रदान की जा रही हैं। यह कहना है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) डॉ संदीप चौधरी का।

डॉ० चौधरी ने कहा कि मंडलायुक्त दीपक अग्रवाल के निर्देशानुसार हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर को सुदृढ़ करने पर पूरा जोर दिया जा रहा है। 20 वर्ष पहले इन उपकेन्द्रों पर सिर्फ एक-एक एएनएम नियुक्त थी। वर्ष 2006 के बाद हर उपकेंद्र पर जनसंख्या के आधार पर कम से पांच से छह आशा कार्यकर्ता तैनात थीं। शासन के निर्देशानुसार और स्वास्थ्य विभाग की पहल पर पिछले चार साल में सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारी (सीएचओ) को नियुक्त किया गया। वर्तमान में इन 225 हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर में से 181 सेंटर पर सीएचओ तैनात हैं। शेष सेंटर पर एएनएम तैनात हैं। वहीं जनसंख्या के आधार पर यहां सात से आठ आशा कार्यकर्ता हो गई हैं।

सीएमओ ने कहा कि चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग वाराणसी के अंतर्गत करीब 316 उपकेंद्र हैं। इसमें से 225 उपकेन्द्रों को हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर में परिवर्तित कर दिया गया है। शेष उपकेन्द्रों को जल्द ही हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर में परिवर्तित किया जाएगा। उन्होने कहा कि इन सभी सेंटर पर ब्रांडिंग की गयी हैं। ग्रामीण व दूर दराज के क्षेत्रों में अंतिम व्यक्ति को चिकित्सा व स्वास्थ्य लाभ मिल सके, इसके लिए सभी हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर पर प्राथमिक जांच व उपचार के साथ निःशुल्क परामर्श दिया जा रहा है।

यह सेवाएं दी जा रहीं निःशुल्क

1. प्रसव पूर्व एवं पश्चात देखभाल,
2. नवजात एवं शिशु स्वास्थ्य देखभाल,
3. किशोरावस्था स्वास्थ्य की देखभाल,
4. परिवार नियोजन, गर्भ निरोधक सेवाएं एवं अन्य प्रजनन स्वास्थ्य देखभाल,
5. वाह्य रोगियों की साधारण बीमारियों का उपचार,
6. संचारी व गैर संचारी रोगों की स्क्रीनिंग, संदर्भन, प्रबंधन एवं फॉलोअप,
7. मुख स्वास्थ्य संबंधी सेवाएं,
8. मानसिक स्वास्थ्य व परामर्श,
9. नेत्र, नाक और कान संबंधी प्राथमिक सेवाएं,
10. वृद्धावस्था से संबंधित सेवाएं,

निःशुल्क जांच की सेवा भी मौजूद

1- हीमोगोबिन
2- यूरिन प्रेग्नेंसी रेपिड टेस्ट
3- यूरिन टेस्ट
4- मधुमेह
5- मलेरिया
6- एचआईवी
7- हेपेटाइटिस बी
8- सिप्सिस रेपिड टेस्ट
9- आयोडीन
10- उदर संबंधी टेस्ट
11- फाइलेरिया
12- टीबी
13- एसीटिक एसिड टेस्ट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here