Home राज्य उत्तर प्रदेश वाराणसी : बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों की गर्भवती हुईं चिन्हित, आशा, एएनएम को...

वाराणसी : बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों की गर्भवती हुईं चिन्हित, आशा, एएनएम को गर्भवती के लगातार सम्पर्क में रहने के निर्देश

20
0

वाराणसी। जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा के निर्देश के अनुसार बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में चिकित्सकीय व्यवस्थाओं को सुदृढ़ बनाने पर स्वास्थ्य विभाग का पूरा ध्यान है। इस दिशा में महत्वपूर्ण कदम उठाते हुए स्वास्थ्य विभाग ने ऐसी गर्भवती को चिन्हित किया है जो बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में रह रही हैं। इसके साथ ही आशा कार्यकर्ताओं व एएनएम को निर्देश दिया गया है कि ऐसी गर्भवती के साथ लगातार सम्पर्क में रहकर जरूरत के अनुसार उन्हें अपने प्रभारी चिकित्सा अधिकारी की मदद से बेहतर चिकित्सकीय सुविधा उपलब्ध करायें।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ० संदीप चौधरी ने बताया कि बाढ़ प्रभावित क्षेत्र की गर्भवती को चिन्हित कर लिया गया है। इनमें दो श्रेणियां बनायी गयी हैं। पहली सूची में 150 ऐसी गर्भवती शामिल हैं , जिन्हें एक माह के भीतर प्रसव होना है जबकि दूसरी सूची में बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में रह रही लगभग 400 गर्भवती शामिल हैं। इसके अलावा सम्बन्धित क्षेत्र की आशा कार्यकर्ता व एएनएम को निर्देश दिया गया है कि वह चिन्हित सभी गर्भवती के सम्पर्क में लगातार रहें और उन्हें अपने प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों की मदद से जरूरी चिकित्सकीय सुविधाएं उपलब्ध कराती रहें। उन्होंने बताया कि बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों की गर्भवती के उपचार व सुरक्षित प्रसव कराने के हरसंभव प्रयास किये जा रहे हैं। चिकित्सकों व चिकित्साकर्मियों को इस बारे में अलग से निर्देश दिये गये हैं। बाढ़ चौकियों के अलावा गर्भवती के घर पर भी पहुंच कर स्वास्थ्य विभाग की टीम उन्हें चिकित्सकीय सुविधा उपलब्ध करा रही है।

सीएमओ ने बताया कि शहर व देहात की कुल 19 बाढ़ चौकियों पर चिकित्साधिकारियों की तैनाती की गयी है, चिकित्सकीय सेवाओं की मदद के लिए सम्बन्धित क्षेत्र के चिकित्साधिकारियों से सम्पर्क किया जा सकता है।

उन्होंने बताया कि बाढ़ चौकी प्राइमरी पाठशाला ढेलवरियां व नवयुग ढेलवरिया-चिकित्साधिकारी डॉ० मनोज दूबे, राम जानकी मंदिर ढेलवरिया- डॉ० सीबी आर्य, प्राथमिक पाठशाला सरैया- डॉ० आशीष कुमार, सुभाष इंटर कालेज कोनियां- डॉ० वीरेन्द्र यादव, माता प्रसाद विद्यालय बड़ी बाजार- डॉ० सतीश जायसवाल, गोयनका संस्कृत महाविद्यालय अस्सी- डॉ० रमेश चन्द्र, प्राथमिक पाठशाला नगवा- डॉ० जीतेन्द्र भारती, दीप्ति कानवेंट व तुलसी निकेतन हुकुलगंज- डॉ० संजय सिंह, प्राथमिक पाठशाला सलारपुर- डॉ० अलफनाथ, जेपी मेहता इंटर कालेज कचहरी व सरस्वती विद्या मंदिर खजुरी- डॉ० अमित यादव, चित्रकूट कानवेंट नक्खी घाट- डॉ० सतीश जायसवाल, अमरपुर बटलोहिया मदरसा व यूनाइटेड पब्लिक स्कूल सरैया- डॉ० आशीष कुमार की तैनाती की गयी है।

इस नम्बर पर कर सकते हैं सम्पर्क

मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि  चिकित्सकीय सुविधा मिलने में यदि किसी को कोई परेशानी हो रही है तो वह उप मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ० पीयूष राय के मोबाइल नम्बर 9450020097 पर भी सम्पर्क कर सकते हैं। उप मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ० पीयूष राय ने बताया कि मंगलवार को बाढ़ राहत शिविरों में 453 मरीज देखे गये। साथ ही ओआरएस के 329 पैकेट व क्लोरीन टेबलेट की 2,170 गोलियां वितरित की गयी। इस तरह छह दिनों में बाढ़ राहत शिविरों में कुल 1,657 मरीज देखे जा चुके है। साथ ही ओआरएस के 1,211 पैकेट व क्लोरीन टेबलेट की 8460 गोलियां वितरित की गयी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here