Home राज्य उत्तर प्रदेश वाराणसी में मनाया गया खुशहाल परिवार दिवस, मिली निःशुल्क सेवाएं

वाराणसी में मनाया गया खुशहाल परिवार दिवस, मिली निःशुल्क सेवाएं

0

वाराणसी। जनपद वाराणसी के सभी आठ ग्रामीण, 24 शहरी स्वास्थ्य केन्द्रों एवं हेल्थ एंड वेलनेस सेन्टर समेत जिला महिला चिकित्सालय कबीरचौरा पर सोमवार को खुशहाल परिवार दिवस मनाया गया। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ संदीप चौधरी ने बताया कि मातृ एवं शिशु मृत्यु दर में कमी लाने एवं स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाने के उद्देश्य से हर माह की 21 तारीख को खुशहाल परिवार दिवस मनाया जाता है।

परिवार नियोजन कार्यक्रम के नोडल अधिकारी एवं एसीएमओ डॉ राजेश प्रसाद ने बताया कि सोमवार को जनपद के सभी स्वास्थ्य केन्द्रों व जिला महिला चिकित्सालय पर परिवार नियोजन के स्थायी व अस्थायी साधन कंडोम, माला-एन, अंतरा तिमाही गर्भनिरोधक इंजेक्शन, छाया साप्ताहिक गर्भ निरोधक गोली, कॉपर-टी की निःशुल्क सेवाएं दी गईं। इसके साथ ही स्वस्थ और खुशहाल परिवार के लिये दंपत्ति को स्थायी व अस्थायी साधनों को अपनाने के बारे में प्रेरित भी किया गया। उन्होने बताया कि पुरुष नसबंदी पर लाभार्थी को 2000 रुपये और महिला नसबंदी पर 1400 रुपये प्रतिपूर्ति राशि विभाग द्वारा दी जाती है।

आदर्श ब्लॉक सेवापुरी के पीएचसी के प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ वाईबी पाठक ने बताया कि ब्लॉक पीएचसी सहित दो अतिरिक्त पीएचसी, सीएचसी हाथी बाजार एवं 35 हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर पर खुशहाल परिवार दिवस के दौरान करीब 300 से अधिक लाभार्थियों को परिवार नियोजन की सेवाओं के साथ परामर्श भी दिया गया। इसमें 12 लाभार्थियों को महिला नसबंदी, 6 को अंतरा इंजेक्शन, 30 को छाया, 25 को माला-एन गर्भनिरोधक गोली, 2 को आईयूसीडी, 2 को पीपीआईयूसीडी एवं 225 लाभार्थियों को कंडोम प्रदान किया गया। ब्लॉक कार्यक्रम प्रबन्धक (बीपीएम) अनूप कुमार मिश्रा एवं यूपीटीएसयू के जिला परिवार नियोजन विशेषज्ञ ने हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर भीषमपुर, लालपुर एवं रामडीहा पर मनाए जा रहे दिवस का पर्यवेक्षण भी किया।

सेवापुरी पीएचसी पर पहुंची शमा ने बताया कि वह अनचाहे गर्भ से राहत चाहती हैं इसलिए उन्होने केंद्र पर जाकर अंतरा तिमाही गर्भनिरोधक इंजेक्शन लगवाया। इसमें उन्हें और उनके परिवार को कोई परेशानी नहीं है। वहीं अंजुम ने बताया कि अनचाहे गर्भ से सुरक्षित रहने के लिए वह छाया साप्ताहिक गर्भ निरोधक गोली का सेवन कर रही हैं और समय-समय पर चिकित्सक व एएनएम से परामर्श भी ले रही हैं। उन्होने बताया कि इसके बारे में आशा कार्यकर्ता के माध्यम से दिवस के बारे में जानकारी मिलती रहती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here