Home राज्य उत्तर प्रदेश गोवा सरकार के सूचना एवं प्रचार विभाग द्वारा भगवान शिव की नगरी...

गोवा सरकार के सूचना एवं प्रचार विभाग द्वारा भगवान शिव की नगरी काशी में ‘Goa@60’ का आयोजन

0

समग्र भारत में पुर्तगाली शासन से गोवा की मुक्ति की डायमंड जूबिली (हीरक जयंती) मनाई जाएगी

भारत के छह शहरों में भव्य उत्सव मनाया जाएगा, जिसमें वाराणसी तीसरे क्रम पर है
विविध कार्यक्रमों और लाइव प्रदर्शनों की श्रृंखला लोगों

को गोवा की संस्कृति और परंपराओं का अनुभव कराएगी

गोवा सरकार के वरिष्ठ अधिकारी गोवा के अधिकतम विकास और राज्य को और ऊंचाइयों तक ले जाने के लिए रोडमैप और विज़न हाईलाइट करेंगे

वाराणसी : 23 सितंबर, 2022
पुर्तगाली शासन से मुक्ति के 60 वर्ष पूर्ण होने के साथ-साथ गोवा के अब तक के बहुआयामी विकास का उत्सव मनाते हुए, गोवा सरकार ने ‘Goa@60’ कार्यक्रम का आयोजन किया है। सरकार ने 19 दिसंबर, 2021 से भारत के तत्कालीन राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद की विशिष्ट उपस्थिति में आयोजित कार्यक्रमों के साथ अपनी मुक्ति की डायमंड जूबिली (हीरक जयंती) सफलतापूर्वक मनाई। इसके बाद भारत के माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में अनेक कार्यक्रमों का आयोजन भी हुआ।

गोवा में शानदार समारोह के आयोजन के बाद, गोवा सरकार गोवा के लोगों के साथ मिलकर इस वर्ष पूरे देश में भव्य समारोहों का आयोजन करेगी। अहमदाबाद से शुरू होकर, झीलों के शहर उदयपुर में यह राष्ट्रव्यापी उत्सव अब तीसरे चरण के लिए महादेव की नगरी काशी में आ गया है और 23 सितंबर से 28 सितंबर कैंटोनेंट स्थित जेएचवी मॉल में इसका आयोजन होगा। यह उत्सव 23 सितंबर 25 सितंबर 2022 तक वाराणसी, उसके बाद मदुरै, तिरुवनंतपुरम और मैसूर जैसे शहरों में जारी रहेगा।

उदयपुर और राजस्थान राज्य के लोगों को विभिन्न लाइव कार्यक्रमों के माध्यम से गोवा के व्यंजनों, संगीत, नृत्य, संस्कृति और परंपराओं की झलक मिलेगी। गोवा के स्वदेशी “बैंड दी क्लिक्स, स्टील” के साथ-साथ “गोवान डांस टूप” का डान्स प्रदर्शन इस आयोजन का मुख्य आकर्षण होगा। इसमें “दी किंग मोमो – फेस ऑफ गोवा कार्निवल” की प्रसिद्ध परेड भी शामिल होगी।

इस समारोह के बारे में गोवा के माननीय मुख्यमंत्री डॉ. प्रमोद सावंत ने कहा कि, “हमें राज्य की मुक्ति के बाद से गोवा सरकार की बहुमुखी उपलब्धियों को प्रदर्शित करने में अत्याधिक प्रसन्नता हो रही है। राज्य ने सुशासन से लेकर खेल, कला और संस्कृति, पर्यटन, शिक्षा, हेल्थकेयर (स्वास्थ्य देखभाल) और कई अन्य क्षेत्रों में असीम विकास किया है। ‘Goa@60’ अधिक पर्यटकों और निवेशकों को समान रूप से आकर्षित करने की एक पहल है जो इंफ्रास्ट्रक्चर ( बुनियादी रचना), कृषि, पर्यटन, परिवहन, आईटी एवं सुरक्षा को और बढ़ावा देगा जिससे गोवा में जीवन की गुणवत्ता में सुधार होगा। इसके साथ, हमारा लक्ष्य गोवा को वैश्विक नक्शे पर भी लाना है।”

यह उत्सव अन्य राज्यों में निम्न तारीख पर मनाया जाएगा :

वाराणसी (उत्तर प्रदेश) में – 23 से 25 सितंबर तक मदुरै (तमिलनाडु) में – 30 सितंबर से 02 अक्टूबर तक तिरुवनंतपुरम (केरल) में – 07 से 09 अक्टूबर तक मैसूर (कर्नाटक) में – 14 से 16 अक्टूबर तक

इन छह राज्यों के प्रमुख अधिकारियों के साथ गोवा सरकार के शीर्ष अधिकारी इस समारोह में शामिल होंगे। वे गोवा में सुशासन, सेवाओं के डिजिटलीकरण, शिक्षा के स्तर में सुधार और औद्योगिक विकास और रोजगार के अवसरों में वृद्धि, हरित आवरण की रक्षा और संरक्षण के प्रयासों, गोवा की विरासत को पुनर्स्थापित और संरक्षित करने के प्रयासों के माध्यम से गोवा की 360° प्रगति के बारे में जानकारी देंगे, जिसकी वजह से भारत और विदेशों से अधिक से अधिक पर्यटक गोवा के प्रति आकर्षित हुए है।

गोवा सरकार आने वाले वर्षों में मोपा में नए अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे, सूचना प्रौद्योगिकी (IT) के विकास, पर्यटन के लिए नई सेवाओं, बेहतर परिवहन सुविधाओं, स्थानीय आबादी और राज्य के पर्यटकों की सुरक्षा के और इंफ्रास्ट्रक्चर के विकास के साथ गोवा को और अधिक पुख्ता इंतजाम ऊंचाइयों तक ले जाने के लिए अपने रोडमैप और विज़न को हाईलाइट करेगी।

यह आयोजन पुर्तगालियों से गोवा की मुक्ति के लिए लड़नेवाले एवं गोवा को राज्य का दर्जा दिलाने के लिए काम करने वाले उन सभी लोगों को श्रद्धांजलि और सम्मान देगा, जिनका गोवा के लोग बहुत आदर करते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here