Home राज्य उत्तर प्रदेश शहीद दिवस पर याद किए गए बापू, एनएसयूआई बीएचयू ने कराई पेंटिंग...

शहीद दिवस पर याद किए गए बापू, एनएसयूआई बीएचयू ने कराई पेंटिंग प्रतियोगिता

209
0

वाराणसी । शहीद दिवस पर NSUI की पहल ने भावी पीढी के दिल और दिमाग राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की अनुभूतियों को आकार देने का मौका दिया। बड़ी तादाद में बच्चे जुटे और पूरे मनोयोग से उन्होंने राष्ट्रपिता को लेकर अपने विचारों को कैनवास पर उतारा, उसे रंग दिया।

बीएचयू स्थित मधुबन पार्क में आयोजित इस पेंटिंग प्रतियोगिता में सैकड़ों प्रतिभागियों ने भाग लिया। कार्यक्रम की शुरुआत महात्मा गांधी और महामना पंडित मदन मोहन मालवीय की प्रतिमा पर माल्यार्पण से हुई। इसके बाद उपस्थित सभी लोगों ने पुष्प अर्पित कर गांधी जी को नमन किया।

प्रतिभागियों ने कला का उत्कृष्ट प्रदर्शन करते हुए महात्मा गांधी के विचारों अहिंसा, सद्भाव, जातीय भेदभाव की समाप्ति, नारी सम्मान को वर्तमान परिवेश से जोड़ते हुए पेंटिंग के माध्यम से दर्शाया, पेंटिंग के मूल्यांकन के बाद सभी प्रतिभागियों को सर्टिफिकेट दिया गया।

बीएचयू के दृश्यकला संकाय के प्रोफेसर साहेब राम टुड्डू, डॉ एस सी जांगिड़ , डॉ महेश सिंह और गांधीवादी एक्टिविस्ट जागृति राही ने पेंटिंग्स का मूल्यांकन किया, प्रोफेसरों का सम्मान स्मृति चिन्ह और शॉल देकर किया गया।

शहीद दिवस पर पेंटिंग प्रतियोगिता में अपने सपनों को आकार देते बच्चेएनएसयूआई के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीरज कुंदन, प्रदेश प्रभारी अविनाश यादव, प्रदेश अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शीर्ष तीन प्रतिभागियों को स्मृति चिन्ह और पुस्तक देकर सम्मानित किया और शीर्ष 10 प्रतिभागियों को भी पुस्तक देकर सम्मानित किया गया।

ये रहे मौजूद
कार्यक्रम के दौरान अभिनव मणि त्रिपाठी, वंदना उपाध्याय, कपिश्वर मिश्रा, शंभू कन्नौजिया, हर्षिता, धनंजय, दिवाकर, शांतनु त्रिपाठी, उमेश यादव, साकेत शुक्ला, नीरज, शांतनु, शिवा, अमरेंद्र, सुदर्शन, चंदन मेहता, धर्मेंद्र पाल, राजेश, जंग बहादुर, शिवम, आनंद मौर्य, अक्षय कुमार, अभिषेक तिवारी, शिवम शुक्ला, रामधीरज, डॉ इंदु पाण्डेय, शशि, ऋषभ पांडे, मानस सिंह, प्रफुल्ल पांडे, आलोक रंजन आदि मौजूद रहे। कार्यक्रम का संचालन इकाई अध्यक्ष रोहित कुमार ने किया, बीएचयू छात्र परिषद के पूर्व महासचिव डॉ विकास सिंह ने आभार जताया। इस मौके पर उन्होंने एनएसयूआई के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीरज कुंदन को पुस्तक भेंट की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here