Home राज्य उत्तर प्रदेश वाराणसी : बड़ागांव व चोलापुर में एएनएम प्रशिक्षण केंद्र का शुभारंभ

वाराणसी : बड़ागांव व चोलापुर में एएनएम प्रशिक्षण केंद्र का शुभारंभ

45
0

वाराणसी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनपद को दो एएनएम ट्रेनिंग सेंटर की सौगात दी है। बड़ागांव व चोलापुर में बनाये गये इन प्रशिक्षण केन्द्रों समेत विभिन्न जनपदों के 35 एएनएम प्रशिक्षण केन्द्रों के शैक्षणिक सत्र का  बुधवार को मुख्यमंत्री ने लखनऊ से वर्चुवल शुभारंभ भी किया। इन सभी केन्द्रों में एएनएम को निःशुल्क प्रशिक्षण दिया जायेगा।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा  कि चिकित्सा सेवा में एएनएम की भूमिका कितनी महत्वूर्ण होती है, इसका एहसास सदी की सबसे बड़ी महामारी कोरोना के दौरान हुआ। उस दौरान घर-घर स्क्रीनिंग का जो विशेष अभियान चलाया गया उसमें एएनएम व आशा वर्कर ने महत्वपूर्ण भूमिका निभायी। अपनी जान की परवाह किये बगैर एएनएम व आशा वर्कर ने घर-घर जाकर पूरी ईमानदारी के साथ कार्य किया। उस समय अगर हमारे पास प्रशिक्षित स्वास्थ्यकर्मी न होते तो हम कोरोना जैसी महामारी से प्रदेश की एक बड़ी आबादी को बचाने में सफल नहीं हो पाते।

उन्होंने कहा कि प्रशिक्षित स्वास्थ्यकर्मी किसी भी स्वास्थ्य सेवा की  रीढ  होते हैं। हमारे पास जितने ही अधिक प्रशिक्षित स्वास्थ्यकर्मी होंगे हम उतनी ही बेहतरीन स्वास्थ्य सेवा आम नागरिकों तक पहुंचा पायेंगे। इसके मद्देनजर ही हमने तीन दशक से बंद पड़े एएनएम प्रशिक्षण को पुनः शुरू करने का निर्णय लिया है । इसके तहत ही प्रदेश में 35 एएनएम प्रशिक्षण केन्द्र खोले गये हैं। एएनएम प्रशिक्षण केन्दें के शैक्षणिक सत्र के शुभारम्भ के साथ ही मुख्यमंत्री ने अन्य जनपदों के साथ ही वाराणसी के 183 हेल्थ एण्ड वेलनेस  सेंटर पर भी आज से शुरू हुए ‘ओरल हेल्थ’ कार्यक्रम का भी उद्घाटन किया।

वर्चुवल शुभारम्भ के लिए बड़ागांव पीएचसी परिसर में बने एनएनएम ट्रेनिंग सेंटर में विशेष समारोह का आयोजन किया गया था। मुख्यमंत्री के उद्‌बोधन के बाद पिण्डरा के विधायक डा. अवधेश सिंह ने बड़ागांव प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र परिसर में बनाये गये एएनएम ट्रेनिंग सेंटर में फीता काटकर ट्रेनिंग उपकरणों का उद्घाटन किया और ट्रेनिंग सेंटर की व्यवस्था की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि एएनएम ट्रेनिंग सेंटर के खुलने से जनपद की चिकित्सकीय सेवाओं को काफी लाभ मिलेगा। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में  प्रदेश की स्वास्थ्य सेवाओं में जितनी तेजी से सुधार हुआ है, उसकी जितनी भी सराहना की जाये कम है।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ० संदीप चौधरी ने बताया कि जिले में दो एएनएम ट्रेनिंग सेंटर खोले गये हैं । यह सेंटर बड़ागांव प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र व चोलापुर स्थित  सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में बनाये गये हैं । दोनों ही केन्द्रों में छात्रावास की भी सुविधा है। जहां रहते हुए छात्राएं एएनएम का निःशुल्क प्रशिक्षण लेंगी। उन्होंने बताया कि प्रशिक्षण के लिए इन केन्द्रों में अलग से आर्इटी कक्ष बनाया गया है जहां कम्प्यूटर आदि भी लगाये गये हैं । छात्राओं की सुविधा के लिए लाइब्रेरी की भी व्यवस्था  है। इन केन्द्रों में अनुभवी प्रशिक्षकों की टीम तैनात की गयी है ताकि वह बेहतर ट्रेनिंग दे सकें। समारोह में उप मुख्य चिकित्सा अधिकारी/ नोडल अधिकारी (ट्रेनिंग) डा. एचसी मौर्य, जिला कार्यक्रम प्रबंधक संतोष सिंह, डीएचईआईओ  हरिवंश यादव, पीएचसी बड़ागांव के प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डा. संतोष वर्मा समेत स्वास्थ्य विभाग के अन्य अधिकारी मौजूद थे।

चोलापुर सीएचसी में भी हुआ आयोजन

चोलापुर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में बनाये गये एएनएम ट्रेनिंग सेंटर के शुभारम्भ के अवसर पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया।  मुख्यमंत्री के वर्चुवल उद्बोधन को स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के अलावा प्रशिक्षण के लिए आयी छात्राओं ने सुना। इस अवसर पर क्षेत्रीय विधायक त्रिभुवन राम, अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. एसएस कनौजिया, सीएचसी चोलापुर के अधीक्षक डा. आरपी यादव समेत स्वास्थय विभाग के अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here