Home राज्य उत्तर प्रदेश वाराणसी में ‘किशोर-किशोरी स्वास्थ्य मंच’ का आयोजन, भाषण में अंशिका तो पोस्टर...

वाराणसी में ‘किशोर-किशोरी स्वास्थ्य मंच’ का आयोजन, भाषण में अंशिका तो पोस्टर प्रतियोगिता में आकांशा को मिला पहला स्थान

0

वाराणसी। किशोर-किशोरियों की सेहत सुधारने के लिए शुक्रवार को मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) डॉ संदीप चौधरी के निर्देशन में सभी आठों ब्लॉकों में ‘किशोर-किशोरी स्वास्थ्य मंच’ का आयोजन किया गया । राष्ट्रीय किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम (आरकेएसके) के तहत किशोर-किशोरी स्वास्थ्य संबंधी जागरूकता के लिए बड़ागांव के हरिहर महादेव इंटर कॉलेज और काशी विद्यापीठ ब्लॉक के राजकीय बालिका इंटर कॉलेज में स्वास्थ्य मंच का आयोजन किया गया । इसमें स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता के लिए भाषण, वाद-विवाद, पोस्टर प्रतियोगिता आयोजित हुईं।

बड़ागांव के देवचंदरपुर स्थित श्री हरिहर महादेव इंटर कॉलेज में आरबीएसके बड़ागांव टीम की ओर से आयोजित स्वास्थ्य मंच कार्यक्रम में कक्षा 10 की अंशिका ने भाषण में प्रथम, श्रेया ने द्वितीय एवं पोस्टर प्रतियोगिता में कक्षा 7 की आकांक्षा ने प्रथम स्थान प्राप्त किया । इसके बाद उन्हें पुरस्कार एवं प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया गया तथा समस्त बच्चों को उज्जवल भविष्य की शुभकामनाएं दी।

टीम के नोडल डॉ० रितेश गुप्ता ने बताया कि हर साल राष्ट्रीय किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम के अंतर्गत किशोर-किशोरी स्वास्थ्य मंच का आयोजन किया जाता है जिसके लिए दो स्कूलो का चयन किया जाता है। इसके तहत शुक्रवार को बच्चों के बीच एनीमिया मुक्त भारत, मानसिक स्वास्थ्य, संचारी रोग नियंत्रण जैसे विषय पर भाषण, वाद विवाद एवं पोस्टर प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की शुरुवात विद्यालय के प्राचार्य डॉ बृजेश मनी पाण्डेय के उद्धबोधन की गई एवं अंत में डॉ आलोक सिंह ने बच्चों ज्ञानवर्धक जानकारी दी। कार्यक्रम में आरबीएसके टीम के डॉ. रमेश, डॉ सर्वेश, आशीष, मनीष, सावित्री, रेनू तथा विद्यालय से कार्यक्रम नोडल राजीव एवं समस्त स्टाफ मौजूद रहा।

आरबीएसके काशी विद्यापीठ टीम ने टिकरी स्थित राजकीय बालिका इंटर कॉलेज में किशोर-किशोरी स्वास्थ्य मंच का आयोजन किया। इसमें बच्चों ने भाषण, वाद-विवाद प्रतियोगिता एवं चित्रकला प्रतियोगिता में बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। बाल दिवस के उपलक्ष्य में विद्यालय में खानपान के स्टॉल भी लगाए गए। बच्चों का उत्साहवर्धन किया गया और उन्हें तीनों प्रतियोगिताओं में प्रथम, द्वितीय और तृतीय पुरस्कार और प्रमाण पत्र दिया गया। उन्होंने बताया कि इस उम्र में मन में आने वाले सभी विचार अपने मां-बाप से साझा नहीं कर पाते हैं। अक्सर किसी से अपनी बात न कह पाने से डिप्रेशन का शिकार हो जाते हैं। ऐसे में जरूरी है कि वह अपने माता पिता से अपनी बातें साझा करें। इसके साथ ही अपने बेहतर स्वास्थ्य के लिए स्वच्छता का भी ख्याल रखें।

नोडल अधिकारी व एसीएमओ डॉ० एके मौर्य ने बताया कि हर ब्लॉक में स्वास्थ्य मंच के दो-दो कार्यक्रम आयोजित किए जाने के निर्देश प्राप्त हुये हैं जिसके अन्तर्गत पेंटिंग, भाषण, खेलकूद, वाद विवाद, निबंध लेखन, क्विज प्रतियोगिता आयोजित की जा रही हैं तथा विजेताओं को प्रोत्साहन के साथ पुरस्कृत किया जा रहा है। इस मौके पर एनीमिया की जांच, आयरन की गोली की महत्व व पौष्टिक आहार लेने के लिए जागरूक किया जा रहा है। स्वास्थ्य जांच के पश्चात यदि कोई अस्वस्थ मिलता है तो उसका इलाज मौके पर या संदर्भित कर किया जा रहा है। उन्होने बताया कि इस कार्यक्रम में स्वास्थ्य विभाग के साथ आईसीडीएस और शिक्षा विभाग का भी सहयोग लिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here